रूस में अब 2036 तक बने रह सकते है व्लादिमीर पुतिन राष्ट्रपति

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने सोमवार को उस कानून पर हस्ताक्षर किए जो उन्हें 2036 तक राष्ट्रपति पद की दौड़ में बने रहने की योग्यता प्रदान करता है| रूस के राष्ट्रपति ब्लादीमिर पुतिन ने एक विधेयक पर हस्ताक्षर किया जिससे 2024 से शुरू हो रहे दो और कार्यकाल के लिए अनुमति देने वाला कानून अस्तित्व में आ गया।

रूस में अब 2036 तक बने रह सकते है व्लादिमीर पुतिन राष्ट्रपति

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने सोमवार को उस कानून पर हस्ताक्षर किए जो उन्हें 2036 तक राष्ट्रपति पद की दौड़ में बने रहने की योग्यता प्रदान करता है| रूस के राष्ट्रपति ब्लादीमिर पुतिन ने एक विधेयक पर हस्ताक्षर किया जिससे 2024 से शुरू हो रहे दो और कार्यकाल के लिए अनुमति देने वाला कानून अस्तित्व में आ गया। इस विधेयक को पिछले माह ही संसद में मंजूरी मिल गई थी। 

 

 

पुतिन का कार्यकाल 2024 तक रहने वाला था लेकिन पिछले साल जन समर्थन के साथ रूस के संविधान को बदल दिया गया। अब विधेयक पर हस्ताक्षर के बाद यह कानून बन गया है। इसके बाद यदि चुनाव में पुतिन  जीतते हैं तो 2036 तक पद पर राष्ट्रपति बने रह सकते हैं। बोरिस येल्टसिन के इस्तीफे के बाद पुतिन ने पहली बार 2000 में राष्ट्रपति चुनाव में जीत हासिल की थी। 

 

 


इसके बाद वह 2004 में दोबारा  जीते और 2008 में प्रधानमंत्री बन गए जब दिमित्री मेदवेदेव राष्ट्रपति थे। 2012 में पुतिन 6 साल के लिए राष्ट्रपति पद पर लौटे और मेदवेदेव पीएम हुए। वह साल 2018 में चौथे कार्यकाल के लिए लौटे लेकिन बिना संवैधानिक संशोधन के 2024 में लौटना मुश्किल था।