ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना में आतंकी फायरिंग में 7 लोगो ने गवाईं जान ,कई घायल

फ्रांस पर आतंकी हमले के बाद अब यूरोप के एक और देश में टेरर अटैक चपेटे में आ गया है।ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना में हुई तपड़तोड़ फायरिंग से पुरे शहर में दहशत का माहौल बना हुआ है। बता दे कि अब तक सात लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई है साथ ही कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए है।

ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना में आतंकी  फायरिंग में 7 लोगो ने गवाईं जान ,कई घायल

ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना में आतंकी फायरिंग में 7 लोगो ने गवाईं जान ,कई घायल

फ्रांस पर आतंकी हमले के बाद अब यूरोप के एक और देश में टेरर अटैक चपेटे में आ गया है।ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना में हुई तपड़तोड़ फायरिंग से पुरे शहर में दहशत का माहौल बना हुआ है। बता दे कि अब तक सात लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई है साथ ही कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए है।

वियना में आतंकी हमले के बाद ऑस्ट्रिया ने नई दिल्ली में भी अपने दूतावास को एहतियात के तौर पर 11 नवंबर तक बंद कर दिया है। ऑस्ट्रियन दूतावास की ओर से मंगलवार को जारी बयान में कहा गया है कि दूतावास को 11 नवंबर तक लोगों के लिए बंद किया जा रहा है। इसके लिए लोगों से सहयोग की अपेक्षा की गई है।

ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना में बंदूकधारियों ने सोमवार शाम को लॉकडाउन लागू होने से पहले बाहर घूम रहे लोगों पर गोलीबारी कर दी। इस आतंकी हमले में एक हमलावर समेत कम से कम तीन लोगों की मौत हुई है और 15 अन्य जख्मी हुए हैं।

ऑस्ट्रिया के गृहमंत्री कार्ल नेहआमर ने कहा है कि आतंकवादी हमले को अंजाम देते हुए मारा गया दहशतगर्द इस्लामिक स्टेट का समर्थक था। लोगों को घरों के भीतर रहने की सलाह दी गई है। उन्होंने मंगलवार सुबह मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि पुलिस की गोली से मारा गया बंदूकधारी ने अकेले हमले को अंजाम दिया या और भी आतंकी थे। उन्होंने हमलावर के उम्र और निवास स्थान को लेकर अभी कोई जानकारी साझा नहीं की है, क्योंकि जांच जारी है।  

ऑस्ट्रिया के गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने लोगों को सिटी सेंटर से दूर रहने को कहा है। साथ ही लोगों से यह भी कहा है कि बहुत जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलें। लोगों को मंगलवार को घर से काम करने की सलाह दी गई है। बयान में कहा गया है, ''सार्वजनिक जगहों पर ना जाएं और घर में रहें, जहां आप सबसे अधिक सुरक्षित हैं। वियना में स्कूल खुले हैं लेकिन उपस्थिति अनिवार्य नहीं होगी।