एसएसपी के खिलाफ अधिवक्ताओं का विद्रोह ,SSP वापस जाओ के नारों कचेहरी

शनिवार की सुबह वाराणसी न्यायलय के अधिवक्ताओं ने एसएसपी कार्यालय पर उग्र प्रदर्शन किया और एसएसपी अमित पाठक के विरोध में जमकर नारेबाजी की गयी । अधिवक्तओं का आक्रोश एसएसपी द्वारा अधिवक्ताओं पर मास्क न पहनने पर दर्ज कराये गए महामारी एक्ट में मुकदमे को लेकर था। बीते दिनों एक अधिवक्ता के समर्थन में एसएसपी कार्यालय पहुंचे अधिवकताओं में से कुछ ने मास्क नहीं लगा रखा था। ऐसे में कोरोना प्रोटोकाल में मद्देनज़र एसएसपी ने मुकदमा दर्ज कराया था।

एसएसपी के खिलाफ अधिवक्ताओं का विद्रोह ,SSP वापस जाओ के नारों कचेहरी

एसएसपी के खिलाफ अधिवक्ताओं का विद्रोह ,SSP वापस जाओ के नारों कचेहरी

शनिवार की सुबह वाराणसी न्यायलय के अधिवक्ताओं ने एसएसपी कार्यालय पर उग्र प्रदर्शन किया और एसएसपी अमित पाठक के विरोध में जमकर नारेबाजी की गयी । अधिवक्तओं का आक्रोश एसएसपी द्वारा अधिवक्ताओं पर मास्क न पहनने पर दर्ज कराये गए महामारी एक्ट में मुकदमे को लेकर था।


बीते दिनों एक अधिवक्ता के समर्थन में एसएसपी कार्यालय पहुंचे अधिवकताओं में से कुछ ने मास्क नहीं लगा रखा था।  ऐसे में कोरोना प्रोटोकाल में मद्देनज़र एसएसपी ने मुकदमा दर्ज कराया था। आज सुबह वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कार्यालय के बाहर अधिवक्ताओं ने जोरदार प्रदर्शन करते हुए एसपी वापस जाओ के नारे लगाए और कहा कि  सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क को लेकर  वाराणसी पुलिस  आम जनता को परेशान कर रही है एसएसपी ऑफिस पर प्रदर्शन के दौरान मास्क न लगाने पर कैंट थाने में दर्ज कराए गए मुकदमे को लेकर सेंट्रल बार एसोसिएशन में संयुक बैठक शनिवार को 11 बजे बुलाई गई है।

सेंट्रल बार महामंत्री शैलेन्द्र सिंह बबलू ने बताया कि सेंट्रल बार पूर्व वरिष्ठ उपाध्यछ घनश्याम सिंह भेलखां और रंजन मिश्र ने प्रस्ताव दिया है जिसमें प्रतिमिकी दर्ज करने की निंदा,उसे रद्द करने,उच्चधिकारियों से मिलने,धरना और एक दिन न्यायिक कार्य से विरत रहने का प्रस्ताव है इस मुद्दे पर सेंट्रल और बनारस बार की संयुक्त बैठक सेंट्रल बार अध्यक्ष प्रेमशंकर पाण्डेय ने बुलाई है।


रायफल सभागार से सैंकड़ों संख्या में अधिवक्ता अचानक एसएसपी और पुलिस प्रशासन विरोधी नारेबाजी करते हुए एसएसपी ऑफिस की तरफ बढे तो सभी अचरज में पड़ गए। एसएसपी कार्यालय के मुख्य द्वार से सौंकड़ों अधिवक्ता नारेबाजी करते हुए अंदर घुसे तो उन्हें एसपी प्रोटोकॉल ने पुलिस बल के साथ समझा बुझाकर रोकने की कोशिश की पर अधिवक्ता नहीं माने और एसएसपी पोर्टिकों में पहुंचकर जमकर नारेबाजी की। एसएसपी की गैर मौजूदगी में नारेबाजी के बाद अधिवक्ता वहां से वापस चले गए।

 

इस सम्बन्ध में अधिवक्ता नित्यानंद राय ने बताया कि आये दिन देखने को मिलता है कि पुलिसकर्मी मास्क नहीं पहनते हैं और हम अधिवक्ता मास्क पहनकर ही काम करते हैं। बावजूद इसके एसएसपी महोदय ने पिछले दिनों हमारे साथी अधिवक्ता के ऊपर महामारी एक्ट का मुकदमा दर्ज करा दिया। हमारी मांग है कि मुकदमा वापस लिया जाए वरना हम उग्र आंदोलन को बाध्य होंगे।वहीं वकीलों के उग्र प्रदर्शन को देखते हुए एसएसपी कार्यालय की सुरक्षा बढ़ा दी गयी है।