Panchayat Chunav 2021 : उच्च न्यायालय के आदेश के बाद आरक्षण निर्धारण के भेजे गए आंकड़े 15 मई से पहले होगा चुनाव संपन्न

उच्च न्यायालय के आदेश के बाद पंचायत चुनाव को लेकर एक बार फिर हलचल तेज हो गई है। पूर्व में आरक्षण की स्थिति तथा पंचायतवार जातिगत आंकड़े शासन को भेज दिए गए हैं। आरक्षण निर्धारण की आगे की प्रक्रिया भी जल्द पूरी की जाएगी। फिलहाल 15 मार्च से पहले आरक्षण निर्धारण की प्रक्रिया पूरी करने की बात कही जा रही है।

Panchayat Chunav 2021 : उच्च न्यायालय के आदेश के बाद आरक्षण निर्धारण के भेजे गए आंकड़े 15 मई से पहले होगा चुनाव संपन्न

उच्च न्यायालय के आदेश के बाद पंचायत चुनाव को लेकर एक बार फिर हलचल तेज हो गई है। पूर्व में आरक्षण की स्थिति तथा पंचायतवार जातिगत आंकड़े शासन को भेज दिए गए हैं। आरक्षण निर्धारण की आगे की प्रक्रिया भी जल्द पूरी की जाएगी। फिलहाल 15 मार्च से पहले आरक्षण निर्धारण की प्रक्रिया पूरी करने की बात कही जा रही है।

हाईकोर्ट ने 15 मई तक जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लाक प्रमुखों का निर्वाचन करने का आदेश दिया है। संबंधित विभाग के अफसरों को सरकार के रुख का इंतजार है, लेकिन उन्होंने चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है। अफसरों का कहना है कि जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लाक प्रमुखों के निर्वाचन की अधिसूचना जारी करने से पहले ग्राम पंचायतों के साथ जिला पंचायत सदस्य तथा ब्लाक विकास समिति (बीडीसी) सदस्यों के चुनाव कराने होंगे

ऐसे में माना जा रहा है कि 30 अप्रैल तक ये चुनाव हो जाएंगे। इसी को ध्यान में रखकर पंचायती राज विभाग तथा अन्य संबंधित विभाग तैयारी में जुट गए हैं। सीडीओ आशीष कुमार का कहना है कि शासन के निर्देश पर पंचायतवार विवरण भेजा जा चुका है । शासन की गाइडलाइन के अनुसार आगे की प्रक्रिया भी जल्द पूरी की जाएगी।

नगर निगम का विस्तार के बाद 101 ग्राम पंचायतें इसमें शामिल हो गई हैं। इसके बाद करीब साढ़े चार लाख आबादी शहरी क्षेत्र में चली गई है। इसके बावजूद बीते पांच साल के दौरान ग्राम पंचायतों में तीन लाख से अधिक मतदाता बढ़ गए हैं। 2015 में कुल 30 लाख 61 हजार 465 मतदाता थे, लेकिन अब यह संख्या बढक़र 33 लाख 69 हजार 216 हो गई है। चूंकि चुनाव की अधिसूचना जारी होने तक मतदाता बना जा सकता है। ऐसे में मतदाता सूची में अभी और नाम जुड़ने की उम्मीद है। इसके लिए आवेदन भी आने लगे हैं।