Indian Railway : महंगाई में रेलवे ने दिया एक और झटका

महंगाई से बेहाल आम लोगों को एक और झटका लगा है। इसबार झटका रेलवे ने दिया है। रेलवे ने किराये में बढोतरी का ऐलान किया है। इससे अब ट्रेन में सफर महंगा हो जाएगा। रेलवे ने किराये में ये बढ़ोतरी कम दूरी की यात्रा के लिए किया है। किराये में बढ़ोतरी पर रेलवे का कहना है कि कोरोना के इस दौर में अनावश्यक यात्राओं में कमी लाने के मकसद से किराए में मामूली बढ़ोतरी की गई है।

Indian Railway : महंगाई में रेलवे ने दिया एक और झटका

महंगाई से बेहाल आम लोगों को एक और झटका लगा है। इसबार झटका रेलवे ने दिया है। रेलवे ने किराये में बढोतरी का ऐलान किया है। इससे अब ट्रेन में सफर महंगा हो जाएगा। रेलवे ने किराये में ये बढ़ोतरी कम दूरी की यात्रा के लिए किया है। किराये में बढ़ोतरी पर रेलवे का कहना है कि कोरोना के इस दौर में अनावश्यक यात्राओं में कमी लाने के मकसद से किराए में मामूली बढ़ोतरी की गई है।

रेल मंत्रालय का कहना है कि कोरोना महामारी की वजह से विशेष प्रावधान के तहत इन ट्रेनों का किराया इतनी ही दूरी की मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में अनारक्षित टिकट जितना तय किया गया है। साथ ही रेलवे का कहना है कि अभी कोरोना खत्म नहीं हुआ है और कुछ राज्यों में स्थिति बिगड़ रही है। कई राज्यों से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही है और उन्हें यात्रा करने के लिए हतोत्साहित किया जा रहा है। किराए में मामूली वृद्धि को ट्रेनों में भीड़ होने से और कोविड-19 को फैलने से रोकने के रेलवे के प्रयास के रूप में देखा जाना चाहिए।

आपको बता दें कि वैश्विक महामारी कोरोना की वजह से भारतीय रेल ने 22 मार्च, 2020 को ट्रेनों का परिचालन पूरी तरह बंद कर दिया था। हालांकि बाद में लोगों की सुविधाओं के लिए एहतियात के धीरे- धीरे ट्रेनों का परिचालन फिर से शुरू किया जा रहा है। आवाजाही में सुविधा के लिए कोरोना प्रोजोकॉल के तहत कई रूट्स पर स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रही है।

रेलवे ने कोविड संकट से पहले के समय की तुलना में 65% मेल एक्सप्रेस ट्रेनों को चलाना शुरू कर दिया है। जबकि 90 फीसदी सबअर्बन ट्रेनें भी चलाई जा चुकी हैं। फिलहाल हर दिन कुल 326 पैसेंजर ट्रेनें चल रही हैं, जबकि 1250 मेल/एक्सप्रेस ट्रेनें और 5350 सबअर्बन ट्रेनें चल रही हैं। रेलवे का कहना है कि इस समय चल रही कम दूरी की पैसेंजर ट्रेनें कुल पैसेंजर ट्रेनों का सिर्फ़ 3 फीसदी ही है। लिहाजा किराए में ताजा बढ़ोतरी से बहुत कम यात्री ही प्रभावित हो रहे हैं।