किसान और सरकार के बिच आज होगी अहम बैठक ,क्या है किसानों की मांग जानिए

कृषि कानून के विरोध में पंजाब और हरियाणा के किसान दिल्ली बॉर्डर पर अड़े हुए हैं| किसानों की मांग है कि केंद्र सरकार संसद में लाए गए तीनों कृषि कानून को रद्द करे....

किसान और सरकार के बिच आज होगी अहम बैठक ,क्या है किसानों की मांग जानिए

कृषि कानून के विरोध में पंजाब और हरियाणा के किसान दिल्ली बॉर्डर पर अड़े हुए हैं|  किसानों की मांग है कि केंद्र सरकार संसद में लाए गए तीनों कृषि कानून को रद्द करे| 40 किसानों नेताओं की सरकार के साथ विज्ञान भवन में बातचीत चल रही है। सरकार की तरफ से कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर अध्यक्षता कर रहे हैं। मीटिंग से पहले तोमर ने कहा कि किसानों से चर्चा का सकारात्मक नतीजा निकलेगा।

उधर, गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बताया कि गृह मंत्री से अपील की है कि किसानों की समस्याओं का जल्द समाधान निकालें। इस मुद्दे से पंजाब की इकोनॉमी और देश की सुरक्षा प्रभावित हो रही है। किसानों से भी अपील की है जल्द मामला सुलझाएं।उधर किसानों के साथ बैठक में रेल मंत्री पीयूष गोयल, वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री सोम प्रकाश भी मौजूद हैं। मीटिंग से पहले सोम प्रकाश ने कहा था कि बातचीत से ऐसा समाधान निकलने की उम्मीद है, जो किसानों और सरकार को भी मंजूर हो। सरकार कह चुकी है कि MSP की व्यवस्था जारी रहेगी और यह बात लिखित में देने को भी राजी है| 

क्या है मांग 

➤केंद्रीय कृषि कानूनों को तुरंत रद्द किया जाए।
➤MSP हमेशा लागू रहे। 21 फसलों को इसका फायदा मिले।
➤अभी तक किसानों को गेहूं, धान और कपास पर ही MSP मिलती है।
➤खुदकुशी करने वाले किसानों के परिवारों को केंद्र से आर्थिक मदद मिले।
➤ बिजली बिल के कानून में बदलाव है, वो गलत है| 
➤ MSP पर लिखित में भरोसा दे| 
➤कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग पर किसानों को ऐतराज| 
➤ किसानों ने कभी ऐसे बिल की मांग की ही नहीं, तो फिर क्यों लाए गए| 
➤डीजल की कीमत को आधा किया जाए| 
➤वायु प्रदूषण के कानून में बदलाव वापस हो|