धर्म की नगरी वाराणसी में नवरात्रि के दूसरे दिन भी मंदिर पर लॉक डाउन का असर, मंदिरो में पसरा सन्नाटा |

नवरात्रि के वक्त देवी मंदिरों में जहां एक ओर लाखों की भीड़ उमड़ पड़ती थी तो वही अब धर्म की नगरी काशी के मंदिर भक्तों के बिना सुने पड़ चुके हैं | वाराणसी के ब्रह्मा घाट स्थित प्राचीन ब्रह्मचारिणी मंदिर में कुछ ऐसा ही नजारा चैत्र नवरात्रि के दूसरे दिन देखने को मिला.

चैत्र नवरात्रि के दूसरे दिन माता ब्रह्मचारिणी के दर्शन की मान्यता है, लेकिन देशव्यापी लॉक डाउन और कोरोना का खौफ इस कदर लोगों के जेहन में है कि धर्म की नगरी वाराणसी में नवरात्रि के दूसरे दिन भी मंदिर में सन्नाटा छाया रहा।

नवरात्रि के वक्त देवी मंदिरों में जहां एक ओर लाखों की भीड़ उमड़ पड़ती थी तो वही अब धर्म की नगरी काशी के मंदिर भक्तों के बिना सुने पड़ चुके हैं | वाराणसी के ब्रह्मा घाट स्थित प्राचीन ब्रह्मचारिणी मंदिर में कुछ ऐसा ही नजारा चैत्र नवरात्रि के दूसरे दिन देखने को मिला. मंदिर में चारों तरफ सन्नाटा पसरा हुआ था और सिर्फ मंदिर पुजारी ही औपचारिकतावस मंदिर में पूजन पाठ और माता ब्रह्मचारिणी की आरती करते नजर आए। पुजारियों की मानें तो उन्होंने अपने जीवन में कभी ऐसा नजारा नहीं देखा था।