Chamoli Tragedy : एक बार फिर ऋषिगंगा नदी का पानी बढ़ने से अफरातफरी का माहौल

उत्तराखंड स्थित चमोली के रैणी गांव में गुरुवार दोपहर एक बार फिर अफरातफरी का माहौल बन गया. यहां ऋषिगंगा नदी का पानी अचानक से ऊपर की तरफ बढ़ने लगा, जिसके मद्देनजर प्रशासन ने अलर्ट जारी कर वहां राहत और बचाव का काम रोक दिया. इसके साथ ही लोगों को वहां से हटकर ऊंची जगह पर जाने का निर्देश दिया गया. मिली जानकारी के अनुसार बैराज का पानी बढ़ने पर वहां लोगों के साथ-साथ राहत और बचाव कार्य में लगाए गए उपकरणों को भी ऊंची जगह पर ले जाते देखा गया. बताया गया कि करीब 200 लोगों को नीचे से ऊपर बुलाया गया है. वहीं एक शख्स ने बताया कि उनके पास फोन आया था कि रैणी गांव से पानी बढ़ रहा है, इसलिए सब लोग वहां से हट जाएं. हालांकि अभी पानी का स्तर कम ही है. उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने इस खबर की पुष्टि करते हुए कहा कि तपोवन में हाईअलर्ट जारी किया गया है. उन्होंने कहा कि रेस्क्यू का काम जहां चल रहा है, वहां से लोगों को सुरक्षित तरीके से हटा लिया है. रैणी गांव में एसडीआरएफ की टीमों ने सूचना दी है. सुरंग के मुंह से बुधवार तक करीब 120 मीटर मलबा साफ किया जा चुका था। ऐसा बताया जा रहा है कि लोग 180 मीटर की गहराई पर कहीं फंसे है, जहां से सुरंग मुड़ती है। सुरंग में फंसे लोगों तक पहुंचने के लिए कई तकनीकों का इस्‍तेमाल किया जा रहा है। इस बीच गुरुवार को ऋषिगंगा नदी का जलस्‍तर बढ़ने से बचाव कार्य रोकना पड़ गया था। चमोली पुलिस ने दोपहर करीब ढाई बजे जानकारी दी कि नदी के आस-पास रहने वाले लोगों को अलर्ट किया जा रहा है। सुरंग के पास से मशीनों को हटा लिया गया था। हालांकि बाद में राहत और बचाव कार्य फिर शुरू हो गया।

Chamoli Tragedy : एक बार फिर ऋषिगंगा नदी का पानी बढ़ने से अफरातफरी का माहौल

उत्तराखंड स्थित चमोली के रैणी गांव में गुरुवार दोपहर एक बार फिर अफरातफरी का माहौल बन गया. यहां ऋषिगंगा नदी का पानी अचानक से ऊपर की तरफ बढ़ने लगा, जिसके मद्देनजर प्रशासन ने अलर्ट जारी कर वहां राहत और बचाव का काम रोक दिया. इसके साथ ही लोगों को वहां से हटकर ऊंची जगह पर जाने का निर्देश दिया गया. मिली जानकारी के अनुसार बैराज का पानी बढ़ने पर वहां लोगों के साथ-साथ राहत और बचाव कार्य में लगाए गए उपकरणों को भी ऊंची जगह पर ले जाते देखा गया.

बताया गया कि करीब 200 लोगों को नीचे से ऊपर बुलाया गया है. वहीं एक शख्स ने बताया कि उनके पास फोन आया था कि रैणी गांव से पानी बढ़ रहा है, इसलिए सब लोग वहां से हट जाएं. हालांकि अभी पानी का स्तर कम ही है.

उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने इस खबर की पुष्टि करते हुए कहा कि तपोवन में हाईअलर्ट जारी किया गया है. उन्होंने कहा कि रेस्क्यू का काम जहां चल रहा है, वहां से लोगों को सुरक्षित तरीके से हटा लिया है. रैणी गांव में एसडीआरएफ की टीमों ने सूचना दी है.

सुरंग के मुंह से बुधवार तक करीब 120 मीटर मलबा साफ किया जा चुका था। ऐसा बताया जा रहा है कि लोग 180 मीटर की गहराई पर कहीं फंसे है, जहां से सुरंग मुड़ती है। सुरंग में फंसे लोगों तक पहुंचने के लिए कई तकनीकों का इस्‍तेमाल किया जा रहा है। इस बीच गुरुवार को ऋषिगंगा नदी का जलस्‍तर बढ़ने से बचाव कार्य रोकना पड़ गया था। चमोली पुलिस ने दोपहर करीब ढाई बजे जानकारी दी कि नदी के आस-पास रहने वाले लोगों को अलर्ट किया जा रहा है। सुरंग के पास से मशीनों को हटा लिया गया था। हालांकि बाद में राहत और बचाव कार्य फिर शुरू हो गया।