Baghpat : बागपत के चाटवालो की लड़ाई ने आइंस्टीन लुक वाला चाचा को किया वायरल

ऐसे तो मारपीट की घटनाओं पर लगातार अलग-अलग तरह के सवाल उठते रहते हैं, पर इस बार बागपत में हुई मारपीट ने मीम्स बनाने वाले लोगो को एक मनोरंजन का साधन दे दिया है। बता दे कैसे भी मारपीट को लेकर लगातार पुलिस द्वारा सतर्कता बरती जाती है, कि किसी भी रोड या दुकानों के सामने मारपीट ना हो जिससे कोई अफरा-तफरी न मचे पर बागपत की लड़ाई ने लोगों को एक मजाक और मीम्स बनाने का एक जरिया दे दिया है। कारण यह था कि दो पक्षों के बीच में हुई लड़ाई में एक चाचा सबसे अधिक भारी पड़े।

Baghpat : बागपत के चाटवालो की लड़ाई ने आइंस्टीन लुक वाला चाचा को किया वायरल

ऐसे तो मारपीट की घटनाओं पर लगातार अलग-अलग तरह के सवाल उठते रहते हैं, पर इस बार बागपत में हुई मारपीट ने मीम्स बनाने वाले लोगो को एक मनोरंजन का साधन दे दिया है। बता दे कैसे भी मारपीट को लेकर लगातार पुलिस द्वारा सतर्कता बरती जाती है, कि किसी भी रोड या दुकानों के सामने मारपीट ना हो जिससे कोई अफरा-तफरी न मचे पर बागपत की लड़ाई ने लोगों को एक मजाक और मीम्स बनाने का एक जरिया दे दिया है।  कारण यह था कि दो पक्षों के बीच में हुई लड़ाई में एक चाचा सबसे अधिक भारी पड़े। 

मामला क्या है आपको विस्तार से बता देते हैं, उत्तर प्रदेश के बागपत में सोमवार को दो पक्षों के बीच सड़क पर लाठी-डंडों से मारपीट का वीडियो खूब वायरल हो रहा है। ये विवाद दो चार्ट के दुकानदारों  के बीच हुआ, मामला यह था कि एक दुकानदार  40 साल से दुकान लग रहा था और दूसरी दुकानदार करीब दो-तीन महीने से दुकान लगा रहा था, इसी में ग्राहक के इधर से उधर जाने के बीच में दोनों दुकानदारों ने रोड को रणभूमि बना ली और रणभूमि में लाठी-डंडे लेकर उतर गए। फिर क्या था आपको पता ही है उत्तर प्रदेश का हाल जहां पर मारपीट होती है वहाँ हर कोई बहती गंगा में हाथ धोने के लिए तैयार रहता है। 

इसी बीच करीब 5 मिनट का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमे हरे रंग का कुर्ता पहने और बड़े बालों वाले चाचा सब पर भारी पड़े और उन्होंने कई लोगों को पीटा. हालांकि कुछ लोग उन्हें भी पीटते हुए वीडियो में दिख रहे हैं. दोनों गुटों में जबरदस्त संघर्ष हुआ. इस घटना के दौरान जिसकी सबसे ज्यादा चर्चा है उनका नाम हरेन्द्र है. उन्होंने बताया कि उनकी चाट की दुकान जहां लगभग 40-50 साल पुरानी है वहीं उनके बराबर में एक दो महीने पहले ही नई चाट की दुकान खोली गई थी और ये लोग ग्राहकों को उनके द्वारा रात को बनाया हुआ समान बताकर ग्राहक से उनका समान वापस करा देते थे. हरेन्द्र का आरोप है कि इस चीज को लेकर जब वो विरोध करते हैं तो पड़ोसी दुकान के संचालक उनके साथ मारपीट करते हैं.